Wednesday, January 27, 2010

तिरंगा

दुनिया में सबसे न्यारा है,
तिरंगा हम सब को प्यारा है|

हम सब तुझ पर कुर्बान,
तू वतन का पहरेदार हमारा है|

तेरी शान हमारी आन है,
तुझ पर सलाम हमारा है|

तेरे रंगों को अहसास सारा है,
वतन को दिया तेरा नारा है|

तू यूँ ही शान से लहराता रहे,
यही सिर्फ अरमाँ हमारा है|

तू अमन का आलामदर है,
किरदार-ए- हिंद तू हमारा है|

तू इंसानियत का पैगाम है,
इसमें रंग नहीं लहू हमारा है|

2 comments:

  1. भावनाएं बहुत अच्छी हैं. लेकिन कविता तो इसमें कहीं नहीं है.

    ReplyDelete